Sir Chhoturam Blog

श्योराण 0

श्योराण जाट गोत्र

शिवराण, श्योराण, सौराण यह श्योराण प्राचीन जाट गोत्र है। भारतीय साहित्य में इसका नाम शूरा लिखा है (महाभारत 2/13/26)। आजकल मध्य एशिया में इसे शोर बोला जाता है। महाभारत में इन शूरा लोगों को...

जाट धर्मेन्द्र 0

जाट धर्मेन्द्र के वो किस्से जो आपने कभी नहीं सुने होंगे

जाट धर्मेन्द्र के वो किस्से जो आपने कभी नहीं सुने होंगे महम चौबीसी से तो हम सभी परिचित हैं, ये जाटों के 24 गाँवों की खाप है जिसमें सह-जातियाँ भी सम्मिलित होती हैं। लेकिन...

जाट इतिहास व शासन की विशेषताएं 0

जाट शासन की विशेषतायें

जाट शासन की कुछ विशेषतायें जाट इतिहास व उनके शासन की कुछ विशेषताएं हैं जो किसी भी अन्य हिन्दू राज-प्रशासन से मेंल नहीं खाती हैं। क्योंकि यह एक अन्तर्राष्ट्रीय (Global) नस्ल रही है, जिसको...

नवीन गुलिया 0

नवीन गुलिया एक साहसी व्यक्तित्व – Navin Gulia

नवीन गुलिया नवीन गुलिया एक साहसी व्यक्तित्व हैं। वह कई प्रतिष्ठित पुरस्कारों जैसे कि हरियाणा गौरव पुरस्कार, इंडियन पीपल ऑफ द ईयर अवार्ड, ग्लोबल इंडियन ऑफ़ द ईयर, 2006 के केविनकेयर एबिलिटी मास्टरी अवार्ड,...

देशवाल जाट गोत्र का इतिहास 1

देशवाल जाट गोत्र का इतिहास

देशवाल जाट गोत्र का इतिहास यह देशवाल गोत्र बौद्ध कालीन है। महात्मा बुद्ध के भिक्षुओं की वार्ता में इसका उल्लेख मिलता है। उसके बाद यह महाभारत के समय से आबाद है जिला रोहतक में लाढौत गांव...